Verse 29 – परिवार – Family

घर का लोभ तो होता है हर लालच से ऊपर,
घर की खातिर दुनिया लेती दुनिया से टक्कर |
खून-कत्ल होते भाइयों में इसके ही ख़ातिर ,
हर कोई इसकी रक्षा करता , ऐसी चीज़ है घर ||