Verse 215-कसौटी-Test

उम्र कसौटी है रूह की घिस परखो इस पर ,
खालिस है या हुई मिलावट आ देखें अंतर।
जीवन की कठनाई को गर अपनी मुश्किल माने ,
तब जाकर यह पूरा उतरे खरा कसौटी-घर ||