Verse 107-ज्ञान-Knowledge

एमर्सन को वेद ज्ञान क्या? कहते प्रोफेसर
उसकी लिखी कविता ‘ब्रह्मा’ एक बार तो पढ़ |
वे कहते ईसाई विधर्मी गीता पाठ क्यों करता ,
मैं कहता वह सार ज्ञान का, और इक सांझा घर ||