Verse 105- तैरना-Swim

हिम्मत टूटे तो ले डूबे जीवन जल-गहवर,
हाथ और पैर चलाता जा तू सिर तू ऊपर कर |
इस गहवर से बचना है तो बन जाओ तैराक ,
तभी घाट पे पहुँचोगे पाओगे अपना घर ||