Verse 32 – हाथ थाम ले – Hold My Hand

प्रीत अगर है मुझसे सच्ची दुनिया से न डर ,
आओ रसमें तोड़ दें सारी , ले ये हाथ पकड़ |
तू पौंछ ले आँसू अपने यजोपवीत मैं तोडूं,
चिंता न कर हाथ थाम ले चल तू मेरे घर ||