Verse 106-बेटियाँ -Daughters

वे योद्धा थे, ज़ालिम थे वे सब है मुझे खबर ,
ज़ुल्म किये मेरे पुरखों ने कैसे बेटियों पर |
वंशावली दिखाते अपनी होती मुझे ग्लानि ,
धिक वीरता, दफनाते नवजात बेटियां घर ||