Verse 10 – कुंज – Bowerbird

मत कर निंदा कुंज की ये तो लम्बा करे सफर,
विशराम-स्थल की खोज में चाहे थक जाते है पर|
खास जगह ही बने घोंसला , ममता का बंधन ,
लम्बे सफर पे फिर उड़ जाना छोड़ के अपना घर

Verse 10 – कुंज – Bowerbird

मत कर निंदा कुंज की यह तो लम्बा करे सफर,
विश्राम-स्थल की खोज में चाहे थक जाते हैं पर |
ख़ास जगह ही बुने घोंसले , ममता का बंधन ,
लम्बे सफर पे फिर उड़ जाना छोड़ के अपना घर ||