Explore KVMT

All Dogri Sonnets

खुदगर्ज लीडर

चीन देसै दे उत्तर च, म्हान कंध ऐ चीनी,
जिसी किबल-मसीह् च चीन्नियें तै’मीर कीता हा।

ओ कंध, उन्नी चैड़ी पुख्ता ते तवील ऐ इन्नी ;
अजित्त दुर्ग, उ’न्नै, चीन गी बनाई दित्ता हा।

हकूमत दुषमनें कोला मैह्फूज़ रक्खने तांईं,
जालम हाकमें बेगार लेइयै एह् बनाई ही ;

जोराबर, जांगली, मखालफें गी रोकने तांईं,
जबर करियै प्रजा उप्पर इदी कीती चनाई ही।

प षात्तर मांचुएं, इस कंधा दे राक्खे गी धुर कीता,
गलाइयै जे तुगी अस चीन दा राजा बनाई देगे।

प जेल्लै चाल एह् चलियै उनें चीनी गी सर कीता;
कतल करियै उस राक्खे गी बनी गे चीन दे राजे!

किले उच्चे, बसीह् कंधां, मते हथ्यार ते लष्कर;
कुसै कारी दे नेईं होंदे जे चंगे होन नेईं लीडर।

GREETING

We are glad that you preferred to visit our website.

X
CONTACT US

Copyright Kvmtrust.Com