Explore KVMT

All Dogri Sonnets

छन्दे

जदूं गम हंजू बनियै अक्खियें षा बाह्र डु’ल्ली जा,
मिरे पर तरस खाइयै, प्यार निं कर मेरेआ यारा।

अगर तूं बाह्में च मी लाडा कन्ने घेरेआ यारा,
तां इब्बी होई सकदा ऐ, मिगी रोना गै भुल्ली जा।

तुगी जे केवल मेरे हंजुऐं भलकेरेआ यारा,
कुसै बेल्लै बी एह् रुकियै तुगी धोखा न देई सकदे।

सिरा मेरे पर जे तूं अपना हत्थ फेरेआ यारा,
तां पक्क एह् रुकी जाङन, कदें बगदे निं रेही सकदे।

तिरे षा दूर होइयै हंजुऐं दी बगदी ऐ गंगा,
तिरे नज़दीक आइयै सुकदी एह् गंगा मिरे यारा।

में तां आखना जे तरसा आह्ला प्यार निं चंगा,
प नां गै हास्सें कन्ने बैर ऐ चंगा मिरे यारा।

तिरै नज़दीक होइयै हंजू न हास्से बनी जन्दे।
तूं दूर होयां निं यारा तिरे छन्दे, तिरे छन्दे।

GREETING

We are glad that you preferred to visit our website.

X
CONTACT US

Copyright Kvmtrust.Com